Browse By

जानिए अग्रोहा धाम के बारे में रोचक जानकारी

अग्रोहा धाम

अग्रोहा धाम

अग्रोहा धाम

अग्रोहा धाम या अग्रोहा मंदिर, जो की नाम से ही पता चलता है, हिसार जिले के एक गांव अग्रोहामें स्थित है। इसका निर्माण 1976 में शुरू किया और 1984 में आठ साल में पूरा हुआ। मंदिर परिसर को तीन हिस्सों में बांटा गया है। परिसर के केंद्र में देवी महालक्ष्मी का मंदिर है, जो मंदिर की मुख्य देवी है। परिसर के पश्चिमी भाग में देवी सरस्वती का मंदिर है और परिसर के पूर्वी हिस्से में महाराजा अग्रसेन का मंदिर है तीनों मंदिर तक जाने के लिए अलग अलग सीढियों से जाया जाता है जो इस परिसर को महल जैसा अनुभव देता है

शक्ति सरोवर

शक्ति सरोवर मंदिर परिसर के पीछे एक बड़ा तालाब है। तालाब को 1988 में भारत की 41 पवित्र नदियों से लाये गए पानी के साथ पवित्रा किया था। परिसर उत्तर पश्चिमी किनारे पर एक मंच बनाया गया है जहां समुद्र मंथन के दृश्य को दर्शाया गया है। एक प्राकृतिक चिकित्सा केंद्र शक्ति सरोवर के पास स्थित है जहां योग के माध्यम से उपचार किया जाता है

अग्रोहा धाम की वास्तुकला

अग्रोहा धाम हिंदूओं का एक धार्मिक स्थल है जो भारत के राज्य हरियाणा हिसार के अग्रोहा में स्थित है इस परिसर का निर्माण 1976 में शुरु हुआ था यह मंदिर देवी महालक्ष्मी और अग्रसेन महाराज को समर्पित है अग्रोहा धाम परिसर की वास्तुकला बहुत सुन्दर है देखने में यह परिसर किसी महल जैसा लगता है परिसर के प्रवेश पर गेट दोनों तरफ हाथी की मूर्तियां स्थापित की गई है

अग्रोहा धाम में त्यौहार

अग्रोहा धाम में सभी त्यौहार मनायें जाते हैं मदिर का वाता वरण श्रद्धालुओं के दिल और दिमाग को शांति प्रदान करता है शरद पूर्णिमा के अवसर पर हर साल, अग्रोहा महा कुंभ का आयोजन होता है।

अग्रोहा धाम की मुख्यबातें

  • अगरोहा हरियाणा के हिसार ज़िले में स्थित नगर जो आग्रेय गणराज्य की राजधानी था।
  • स्थानीय किंवदंती के अनुसार महाभारत काल में यहां राजा उग्रसेन की राजधानी थी और स्थान का नाम उग्रसेन का ही अपभ्रंश है।
  • यह चोटी अगरोहा से 5 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।
  • अगरोहा में इस चोटी की सन् 1888 से 1889 ई. में खुदाई की गई थी।
  • खुदाई करने के बाद ही अगरोहा साम्राज्य के अवशेष पाए गए थे। यह हिसार से 20 किलोमीटर और दिल्ली से 190 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।
  • यवन-सम्राट अलक्षेंद्र के भारत पर आक्रमण के समय (327 ई. पू.) यहां आग्रेय गणराज्य था।
  • चीनी यात्री चेमाङ् ने भी अग्रोदक का उल्लेख किया है।

अग्रोहा धाम : पता, एंट्री फी, टाइमिंग

पता : अग्रोहा धाम, अग्रोहा, हरियाणा

एंट्री फी : यहां आप नि:शुल्क प्रवेश कर सकते हैं

टाइमिंग : सुबह 6:30 बजे से रात 8:30 बजे तक खुला रहता है

One thought on “जानिए अग्रोहा धाम के बारे में रोचक जानकारी”

  1. Devendar agrawal says:

    Jay ho Maharaja agrsen mahraj ke

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *